Wednesday, May 13, 2020

Immunity means in hindi प्रतिरक्षा प्रणाली क्या है

प्रतिरक्षा प्रणाली क्या है 


प्रतिरक्षा प्रणाली क्या है Immunity means in hindi । जीव के अंदर होने वाली वह जैविक क्रियायें है, जो रोग उत्तपन्न करने वाली कोशिकाओं को पहचान कर और फिर मार कर जीव की रोगों से रक्षा करती है। इसमें विषाणु से और परजीवी कृमियों जैसे अनेक प्रकार के एजेंट की पहचान करने की छमता होती है । व्यक्ति की रोगों से लडने की छमता अर्थात रोग प्रतिरोधक छमता को ही immunity कहा जाता है ।


Immunity in hindi




कोरोना के प्रकोप से दुनिया में पूरी मनुष्य जाति पीड़ित है। ऐसे में शरीर की प्राकृतिक प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करना और अच्छा स्वास्थ्य बनाए रखना अत्यंत महत्वपूर्ण है। बदलते मौसम में या आमतौर तौर पर बार-बार किसी संक्रमण की चपेट में आना रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने का संकेत हो सकता है ।



immunity means in hindi इम्यूनिटी शरीर में मौजूद विषैले वायरस व जीवाणु से लड़ने की क्षमता होती है। शरीर के आसपास बहुत सारे बैक्टीरिया और वायरस उपस्थित होते हैं, जो कई तरह की बीमारियों का कारण हो सकते हैं इनसे लडने की छमता ही इम्यूनिटी है ।



बीमारियों से दूर रहने के लिए इम्यूनिटी सिस्टम का मजबूत होना  आवश्यक है। अगर इम्यूनिटी मजबूत होगी तो आप बदलते मौसम में होने वाली सर्दी, खांसी जैसी समस्या व हेपेटाइटिस, फेफड़े के संक्रमण, किडनी के संक्रमण जैसी अनेक गंभीर बीमारियों से भी बचे रह सकते हैं। 



हम सभी जानते हैं कि कोरोना रोग की रोकथाम करना इलाज करने से बेहतर है । क्योंकि अब तक कोविड -19  के रोग के इलाज के लिए लिए कोई दवा नहीं है । ऐसे समय में  उपाय  करना  अच्छा  रहेगा जिससे  हमारी  रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। जिस व्यक्ति की इम्यूनिटी अच्छी होगी उस व्यक्ति को कोरोना का इंफेक्शन होने के बाद भी वह स्वस्थ हो जाएगा ।




प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस की महामारी के बढ़ते संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए देश के नागरिकों से कुछ सावधानियां रखने के लिए कहा था। उन्होंने कहा कि सभी देशवासी रोग प्रतिरोधक क्षमता Immunity in hindi बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय के द्वारा बताए गए उपायों को अपनाएं।




आपको आयुष मंत्रालय द्वारा जारी किए गए टिप्स  बताते है । जिनसे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायता मिलती है ।




31 मार्च 2020 को आयुष मंत्रालय भारत सरकार द्वारा घरेलू नुस्खों से संबंधित एक एडवाइजरी जारी की गई थी। जारी की गई एडवाइजरी में निम्नलिखित बातें शामिल की गई थी ।



1.प्रतिरक्षा प्रणाली कैसे मजबूत करें how to improve immune system in hindi



1.1.  दिन में गर्म पानी का सेवन करें ।




1.2. हर दिन योगा अभ्यास करें। कम से कम तीस मिनट तक प्राणायाम और योगा अवश्य करें ।




1.3. खाना में रोजाना हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन जैसे मसालों का प्रयोग करें।




1.4. हर रोज एक चम्मच च्यवनप्राश का सेवन करें। डायबिटीज के रोगी शुगरफ्री ज्यवनप्राश का सेवन कर सकते है ।




1.5. तुलसी, दालचीनी, काली मिर्च, सौंठ और मुनक्का का काढ़ा बनाकर सुबह शाम सेवन करें । इसमें आवश्यकता अनुसार गुड़ अथवा नीबू का रस मिलाया जा सकता हैं।




1.6. दूध में हल्दी मिलाकर  पिएं। एक ग्लास गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाए। ऐसा दूध दिन में एक से दो बार पी सकते हैं।




2. प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत करने के घरेलू उपाय - how to improve immunity in 




  • नारियल का तेल या घी को दोनों नाक के छिद्रों में दिन में एक या दो बार सुबह या शाम को प्रयोग करें । इससे प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत होता है ।



  • एक चम्मच तिल का तेल अथवा नारियल तेल को मुंह में भरकर दो-तीन मिनट तक मुंह में ही घुमाते रहें इसके बाद कुल्ला कर दें। इसके उपरांत गर्म पानी से कुल्ला करें। इस प्रक्रिया को दिन में एक से दो बार करें।




  • सूखी खांसी/ गले में खराश होने पर पुदीने के ताजे पत्तों या अजवाईन  के  साथ  दिन  में  एक बारभाप लिया जा सकता है।




  • खांसी या गले में जलन होने पर लौंग पाउडर को गुड़ अथवा शहद के  साथ  मिलाकर  दिन  में  2  से  3  बार सेवन किया जा सकता है। यह उपाय सामान्यता साधारण सूखी खांसी और गले में खराश को ठीक करता हैं। अगर ये लक्षण  बने रहते हैं तो डॉक्‍टर से परामर्श लेना आवश्यक है ।

Immunity means in hindi



3. कमजाेर इम्यूनिटी के लक्षण immune system weak



1. बदलते मौसम में सर्दी-जुकाम होना ।


2. हर समय सुस्ती का अहसास होना।


3. बीमार होने पर जल्दी ठीक न होना।


4. थोड़ा सा काम करने पर थक जाना।


Immunity system in hindi



रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय Immunity means in hindi




1. स्वस्थ जीवनचर्या का पालन करें



अपनी लाइफस्टाइल और खानपान में थोड़ा बहुत बदलाव कर आप खुद को स्वस्थ रखने के साथ-साथ अपनी रोग प्रतिरोधक छमता को भी सुधार सकते हैं। नियमित व्यायाम और खानपान में ध्यान रखने  के साथ अपने भोजन में उन चीजों को शामिल करना आवश्यक है, जो आपके शरीर को शक्ति प्रदान करने के साथ-साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक हो ।



2. सुबह का नाश्ता अवश्य करें



आम तौर पर बहुत से लोग सुबह के नाश्ते पर ध्यान नहीं देते है। इसका असर स्वास्थ्य के साथ साथ उनकी इम्यूनिटी पर भी पड़ता है। अगर आप अपनी इम्यूनिटी को दुरुस्त करना चाहते हैं, तो आप सुबह का नाश्ता करना अपनी आदत में डाल लेवें । सुबह के नाश्ता प्रोटीन से भरपूर व पॉस्टिक होना चाहिए। इसके लिए आप उबले हुए अंडे, मौसम के ताजे फल, ड्राय फ्रूट, अंकुरित अनाज के साथ जूस या लस्सी का सेवन कर सकते हैं। जब आपके दिन की शुरुआत पौष्टिक नाश्ते से होती है, तो इससे आपके शरीर और को पोषण मिलने के साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।



3. अपने आप को एक्टिव रखने का प्रयास करें



अच्छी इम्यूनिटी के लिए एक्टिव रहना बहुत आवश्यक है।  निष्क्रिय रहने से आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक छमता को कम होती है । इससे लिए नियमित व्यायाम अवश्य करें । जब आप व्यायाम करते हैं, तो आपका स्टेमिना बढ़ता है। व्यायाम में योग को भी शामिल कर सकते हैं ।



4. अच्छी नींद है जरूरी



स्वस्थ रहने के लिए भरपूर नींद लेना अत्यंत आवश्यक है। विशेषज्ञों के अनुसार स्वास्थ्य रहने के लिए आठ घंटे की  नींद आवश्यक है। नींद पूरी न होने के कारण  से कई तरह की मानसिक और शारीरिक समस्याएं जन्म लेती हैं। अगर आप खुद को स्वस्थ रखने के साथ अपनी इम्यूनिटी को अच्छा करना चाहते हैं, तो इसके लिए यह अत्यंत आवश्यक है कि आप खुद को बेमतलब के तनाव से दूर रखें और गहरी नींद लें।



5. नशे से परहेज करें



नशे से दूरी बनाकर रखना सेहतमंद रहने का फार्मूला है। अगर नशे के आदी है तो इसकी लत को धीरे धीरे कम करके इसे छोड़ने का प्रयास करें। क्योंकि ये आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को अत्यधिक प्रभावित करता है।




इम्यून सिस्टम मजबूत के लिए किस आहार का सेवन करें- immune system in hindi





1. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए टमाटर को अपने आहार में अवश्य शामिल करें। इसमें उपस्थित लाइकोपीन नामक तत्व एंटी ऑक्सिडेंट होता है, यह आपके दिमाग की स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। इसके अतिरिक्त टमाटर में विटामिन के, विटामिन सी और फाइबर की प्रचुर मात्रा होती है, जो इम्यूनिटी बढ़ाने में सहायक होते हैं।




2.  सिट्रस फल यानी संतरा, नीबू, आंवला, मौसमी जैसे  फलों में विटामिन सी की प्रचुर मात्रा होती है, जो हर तरह के संक्रमण से लड़ने में सायक होते है ।  इन सारी चीजों को अपने आहार में नियमित रूप से शामिल किया जाना चाहिए।




3. लहसुन में ऐसा गुण होता है जो भरपूर मात्रा में एंटी ऑक्सिडेंट बनाकर हमारे शरीर की इम्यूनिटी को बीमारियों से लड़ने की शक्ति देता है। लहसुन में एलिसिन नामक ऐसा तत्व पाया जाता है, जो शरीर को किसी भी प्रकार के संक्रमण और बैक्टीरिया से लड़ने की शक्ति देता है। प्रतिदिन लहसुन की सीमित मात्रा में आहार में शामिल करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने में सहायता करता है । प्रतिदिन सुबह लहसुन की दो कलियों का सेवन करने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है और इम्यून सिस्टम immune system भी मजबूत रहता है। 




5. मशरूम शरीर की श्वेत रक्त कोशिकाओं को सक्रिय करने में सहायक होता है। इसमें सेलेनियम नामक तत्व मिनरल, एंटी ऑक्सिडेंट, विटामिन बी, नाइसिन आदि पाये जाते हैं। इनके अलावा मशरूम में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो एंटी वायरल, एंटी बैक्टीरियल और एंटी ट्यूमर होते हैं । मशरूम शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखने में सहायक होता है ।




6.  बादाम के पांच से छे गिरी प्रतिदिन भिगो कर खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता तो बढ़ती ही है, और साथ में इसके सेवन से दिमाग को तनाव से लड़ने की ताकत भी मिलती है।




7. मौसमी फलों और सब्जियों को अपने भोजन में अवश्य शामिल करें। यह इम्यूनसिस्टम को मजबूत करने और इम्यूनिटी को बढ़ाने में सहायक है । इस लिए सब्जियों और फलों का सेवन करने के साथ-साथ भरपूर मात्रा में पानी पिएं।



इस लेख में प्रतिरक्षा प्रणाली किया है Immunity means in hindi, प्रतिरक्षा प्रणाली कैसे विकसित करें immune system how to improve in hindi, एवम् इम्मु्यूनिटी कमजोर होने के कारण एवम् लक्षण का वर्णन किया गया है । आशा करते हैं यह लेख आप को अवश्य पसंद आया होगा ।

धन्यवाद ।



_________________________

Popular post