Posts

गर्म पानी के फायदे और नुक़सान (garam pani ke fayde aur nuksan)

Image
गर्म पानी के फायदे ( garam pani ke fayde)


गर्म पानी पीना स्वास्थ्य के लिए लाभ दायक होता है, गरम पानी से तात्पर्य गुनगुने पानी से है जो कि पीने लायक होता है । गर्म पानी पीना अगर आदत में डाल लिया जाए तो सेहत से जुड़ी अनेक समस्यों से छुटकारा पाया जा सकता है । गर्म पानी पीने के फायदे( garam pani ke fayde) वजन कम करने में तो है ही लेकिन इसके साथ साथ गर्म पानी पीने के विभिन्न फायदे है गर्म पानी पीना आमतौर पर अच्छा नही लगता है लेकिन इसके अनेक लाभ देखने को मिलते है  ।








गुनगुना पानी सर्दी गर्मी बरसात किसी भी मौसम में पिया का सकता है । गुनगुना पानी पीने से पाचन अच्छा रहता है और सॉच की समस्या नहीं होती है, पेट खुलकर साफ होता है । खाना पचाने में भी गर्म पानी पीने के फायदे ( garam pani pine ke fayde) है । खाना सही नहीं पचेगा तो कब्ज की शिकायत रहेगी । गुनगुना पानी पीने से स्किन व बाल स्वस्थ रहते हैं ।



यह भी पढ़े : टमाटर के फायदे एवम् उपयोग



गर्म अर्थात गुनगुना पानी पीने से गैस की समस्या नहीं होती है । इससे वजन भी नियंत्रित होता है । सर्दी जुखाम में भी गुनगुना पानी फायदे करता है । अगर आपका वजन लगातार …

शतावरी के 20 फायदे एवम् उपयोग ( shatavari benefit in hindi )

Image
शतावरी के फायदे ( shatavari ke fayde in hindi)



शतावरी के फायदे ( shatavari benefit in hindi) के बारे में बहुत कम लोग जानते हैं, इसलिए इसका उपयोग कम लोग ही कर पाते हैं । इस लेख में बताने जा रहे हैं कि शतावरी क्या है, शतावरी के फायदे क्या हैं, शतावरी का सेवन कैसे किया जा सकता है।



आयुर्वेद में शतावरी को एक बहुत ही लाभ दायक औषधि के रूप में जाना जाता है । इससे अनेक बीमारियों की रोकथाम, और उपचार किया जाता हैं।







शतावरी क्या होती है


शतावरी एक औषधीय जड़ी-बूटी है। इसकी लताएं फैलने वाली होती है। एक ही बेल के नीचे लगभग 100 - 150  जड़ें होती हैं। यह जड़े आकर में लगभग 30 से 100 सेमी तक लम्बी, तथा 1 से 2 सेमी मोटी होती हैं। इन जड़ों के दोनों किनारे नोकदार होते हैं।


शतावरी की जड़ों के ऊपर भूरे रंग का, पतला छिलका होता है। इस छिलके को उतार देने के बाद अन्दर सफेद रंग की जड़ें निकलती हैं। इन जड़ों के बीचोबीच में सख्त रेशा होता है, इसे निकाल कर उपयोग में लाया जाता है ।


शतावरी दो प्रकार की होती हैं,


1. विरलकन्द शतावर


इस शतावरी के कन्द आकार में छोटे, मांसल, फूले हुए तथा एक गुच्छे के रूप में होते हैं। इसके कन्…

सिर दर्द के 14 चमत्कारी घरेलू उपाय( sir dard ke gharelu upay)

Image
सिर दर्द के घरेलू उपाय ( sir dard ke gharelu upay)


आप सब लोग जानते ही हैं आजकल की भाग-दौड़ की जिंदगी में सिर दर्द एक आम बात हो गई है। लगभग सभी उम्र के लोग अक्सर सिरदर्द की बात करते हैं। सिर दर्द ठीक करने के लिए अनेक तरह की एलोपैथिक दवाओं का प्रयोग करते हैं, लेकिन इन दवाओं का असर कम समय तक रहता है । ऐसे लोगों  शायद यह नहीं जानते हैं कि सिर दर्द के घरेलू उपाय के द्वारा भी आसानी से ठीक किया जा सकता है।




लगातार कंप्‍यूटर के सामने बैठ कर काम करने से भी कभी कभी सिर दर्द होता है । या फिर काम का दबाव अधिक होने से भी सिर दर्द होता है । सिर दर्द को ठीक करने के अनेक घरेलू उपाय हैं जिनका उपयोग कर आप अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं। चलिए हम आपाको सिर दर्द के कुछ उपाय के बारे में बताते हैं।








लौंग एवम् नमक का पेस्ट सिर दर्द ठीक करने का एक असरदार उपचार है। इसके लिए लौंग पाउडर और नमक का पेस्ट बनाकर फिर इस पेस्ट को दूध में मिलाकर सेवन करने से सिर दर्द ठीक हो जाता है। नमक में एक ऐसा गुण पाया जाता है, जिससे यह सिर में उपस्थित द्रव्य पदार्थ जिनके कारण सिरदर्द होता है, को सोक लेता है । जिस कारण सिर दर्द से…

सफेद मूसली के फायदे एवम् नुक़सान( safed musli ke fayde evam nuksan)

Image
सफेद मूसली के फायदे एवं नुकसान (safed musli ke  fayde evam nuksan)



सफेद मूसली एक पौधा है सफेद मूसली का उपयोग आयुर्वेद में बड़े पैमाने में किया जाता है क्योंकि इससे अनेक रोगों का उपचार किया जाता है ।  सफ़ेद मुसली में विटामिन,  प्रोटीन, स्टेरॉयड, कार्बोहाइड्रेट और पॉलीसैकराइड्स आदि प्रयाप्त मात्रा में होता है और यह सबसे कीमती जड़ी बूटी मानी जाती है । यह बहुत सी बिमारियों के इलाज में प्रयोग किया जाता है। इसके अलावा इसे दूसरी चीजों के साथ मिलाकर भी औषधि तैयार की जाती है।



मुख्य रूप से सफेद मूसली का उपयोग सेक्स सम्बन्धित रोगों के लिए किया जाता है। मर्दों में शुक्राणुओं की कमी होनें पर इसका प्रयोग करते है। सफेद मूसली पौधे की जड़ में अनेक प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं। जैसे -  प्रोटीन, सैपोनिन, फाइबर, कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम आदि । इसके अतिरिक्त सफेद मूसली की जड़ में ग्लूकोस, सुक्रोज भी पाए जाते हैं।



सफेद मूसली के फायदे (safed musli ke fayde)



कुछ विशेष फायदे निम्न प्रकार हैं। सफेद मूसली आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को भी ताकत प्रदान करती है, जिससे बाहरी रोगों से शरीर की रक्षा होती है । सफेद …

क्या आप जानते है, सर्दी का वायरल संक्रमण क्या होता है और इसके उपाचार क्या है

Image
वायरल संक्रमण क्या होता है (what is the viral infection in hindi)


वायरल इंफेक्शन के लक्षण (viral infection ke lakshan)


सामान्यतः सर्दी में वायरल संक्रमण होता है, जो गले, नाक को प्रभावित करता है। इस रोग में बीमारी के लक्षण आमतौर पर दो या तीन दिन बाद शुरू होते हैं जब व्यक्ति वायरस के संपर्क में आ चुका होता है और इसमें बंद नाक, सिरदर्द, खांसी, छींक, गले में खराश और कभी-कभी बुखार होता है। ये लक्षण दो सप्ताह या उससे अधिक समय तक बने रह सकते हैं, वर्तमान में, इस वायरल संक्रमण (viral infection in hindi) का कोई पूर्ण असरकारक चिकित्सा उपचार नहीं है, लेकिन आम सर्दी के लिए कई घरेलू उपचार हैं। आइए आपको इस बारे में बताते हैं ।




सर्दी के दिनों में वायरस की वजह से बुखार, सर्दी, खांसी, गले में इन्फेक्शन, छाती में संक्रमण, न्यूमोनिया का खतरा ज्यादा हो जाता है। कॉमन कोल्ड या जुकाम, नाक बंद होना, छींके आना इसमें आम बात होती है । इसके फैलने का कारण वातावरण में उपस्थित वायरस है जो एक-दूसरे में सांस और वायु द्वारा, छींकने और खांसने पर फैलता है। बच्चों में वायरल संक्रमण (viral infection in hindi) की वजह से डाय…